Heart broken shayari Hindi: जमाने के ताने अब हम और सह नहीं सकते।

HEART-BROKEN-SHAYARI-HINDI

जो चोट हमने खाई है उसे बयां नहीं कर सकते

हर दर्द का अब हम और हिसाब नहीं कर सकते

किसी से अब हम और क्या कहे और क्या ना कहे,

क्योंकि जमाने के ताने अब हम और सह नहीं सकते।

 

Jo chot hamane khai hai use bayan nahi Kar sake

Har dard Ka ab ham aur hisab nahi kar sakte

Kisi se ab ham aur kya kahe aur kya na kahe,

Kyonki jamane ke taane ab ham aur sah nahi sakte.

 

Heart broken shayari

 

किसी की रुसवाई बहुत गम देते

जमाने भर न जाने कितना का जख्म देते है

कैसे कहे उसे की इतने भी न तड़पाओ,

क्योंकि उसकी ये बेरुखी बहुत दर्द देते है।

 

Kisi ki rusvai bahut gham dete hai

Jamane Bhar Ka na jaane Kitna jakhma dete hai

Kaise kahe use ki itne bhi na tadapao,

Kyonki uski ye berukhi bahut dard dete hai.

 

ये जिंदगी भी बड़ा अजीब खेल खेलती है

अभी जख्म भरा भी नहीं और नए जख्म देती है

अब तक गैरों से ही धोखे मिलते थे मुझे लेकिन,

अब अपनों से भी बेवफाई का ईनाम मिलते है।

 

Ye jindagi bhi bada ajeeb khel khelti hai

Abhi jakhma bhara bhi Nahi aur naye jakham deti hai

Ab tak auron se dhokhe milte the mujhe lekin,

Ab apni se hi bevafai Ka inaam milte hai.

 

दिल में अरमानों का दिया जलाएं बैठे रहे

आंखो में उन्हीं के नाम की चमक बनाए रहे

पर हमें क्या पता था उम्मीद का दिया बुझ गया है,

और हम दिल में उम्मीदों के आरज़ू बनाए रहे।

 

Dillon me Armano Ka Diya jalaye baithe rahe

Aankho me unhi ke naam Ka chamak banaye rahe

Par hame kya pata tha ummedon Ka Diya bujh Gaya hai,

Aur ham Dil me ummedon ke aarzoo banaye rahe.

 

 

जमाने में दम कहां था, जो हमे हरा दे,

हम हारे थे तो अपनों से हारे थे।

 

Jamane me dam khan tha, Jo hame haraa de,

Ham hare the to apno se jaate the.

 

Read more

Dard bhari shayari | Painful shayari| दर्द से भरी हुई शायरी