Read beautiful Ilzaam shayari | पढ़िए चुनिंदा इलज़ाम शायरी हिंदी में

Ilzaam-shayari

 

बड़ा अजीब दौर ए जमाना चल रहा है यहां

पता ही नहीं चलता तारीफ की जा रही कि,

इलज़ाम लगाए जा रहे है।

 

Bada ajeeb daur e jamana chal raha hai yahan

Pata hi Nahi chalta tareef ki jaa rahi hai ki,

Ilzaam lagaye jaa rahe hai.

 

Continue reading